(4000 Rs) UP Bal Seva Yojana 2022: Registration | Application Form

नमस्कार दोस्तों आज हम आपके लिए उत्तर प्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री योगी महाराज जी द्वारा राज्य में वो परिवार जिनके बच्चे अनाथ हो चुके हैं. उनके लिए Mukhyamantri UP Bal Seva Yojana के तहत सहायता राशि देने का निर्णय किया गया है. COVID-19 महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों को केंद्र एवं राज्य सरकार मिलकर विभिन्न योजनाओं का लाभ प्रदान करने जा रही है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि राज्य के बच्चों का संपूर्ण विकास करने के लिए तथा उन्हें विभिन्न तरह की शैक्षणिक योग्यता के अतिरिक्त अन्य तरह की योजनाओं का लाभ देने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई है. आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से Mukhyamantri Bal Seva Yojana का उद्देश्य, पात्रता, ऑनलाइन आवेदन कैसे करें यह सभी जानकारियां प्रदान करेंगे अधिक जानकारी के लिए लेख को अंत तक पढ़ लीजिए.

कोविड-19 महामारी के कारण जिन बच्चों ने अपने माता पिता को खो दिया उन बच्चों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना की शुरुआत की गई सरकार का कहना है कि इस योजना से राज्य के बच्चों को एक नई दिशा प्रदान की जाएगी जिससे बच्चों को हाथ में उत्तर प्रदेश सरकार की इस योजना का सीधा लाभ राज्य के कोविड-19 से ग्रसित बच्चों को मिलेगा हम आपको बताएंगे कि किस तरह आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं तथा योजना के लिए सरकार द्वारा अब 18 साल पूरे होने पर ₹1000000 की सुविधा देने की घोषणा भी कर दी गई है

Mukhyamantri Bal Seva Yojana

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री का सेवा योजना के तहत योजना का लाभ उन नागरिकों को मिलेगा जिनके माता-पिता या कमाई करने वाले किसी घर वाले की COVID-19 महामारी से मृत्यु हो गई है. सरकार का कहना है कि ऐसे बच्चों को 4000 रुपए मासिक वित्तीय सहायता राशि प्रदान की जा रही है. उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि ऐसे बच्चों की परवरिश और शिक्षा का संपूर्ण ज्ञान राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा.Uttar Pradesh Mukhyamantri Bal Seva Yojana के तहत राज्य सरकार अभिभावक को वित्तीय सहायता देगी जबकि जिनके पास उनकी देखभाल के लिए कोई नहीं है उन्हें बाल गृह भेजा जाएगा.

Information Table of UP Bal Seva Yojana 2022

योजना का नाममुख्यमंत्री बाल सेवा योजना
शुरू की गई योजनामुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा
लाभार्थीराज्य के नागरिक
प्रतिमा सहायता राशि4000 रुपए
योजना का क्षेत्रसमस्त उत्तर प्रदेश
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना शुरू करने का उद्देश्य

जैसे कि आप सभी जानते हैं कि हमारे देश में COVID-19 बीमारी के कारण बहुत से परिवार के बच्चे अनाथ हो गए. सुप्रीम कोर्ट ने कुछ दिनों पहले ही कहा था कि जिन लोगों के माता-पिता या फिर अभिभावक COVID-19 महामारी के कारण जिनकी मृत्यु हो गई. ऐसे बच्चों को राज्य सरकार द्वारा विभिन्न तरह की सुविधाएं देने का निर्णय किया गया है. UP Bal Seva Yojana के अंतर्गत सरकार द्वारा ऐसे बच्चों को स्वास्थ्य सुविधाओं से लेकर उनकी शिक्षा तक की सभी सुविधाएं प्रदान की जाएंगी. सरकार का कहना है कि मुश्किल समय में ऐसे बच्चों को आर्थिक सहायता देकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से योजना की शुरुआत की गई है.

उत्तर प्रदेश बाल सेवा योजना अन्य जानकारियां

  • सरकार का कहना है कि ऐसे बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई करने के लिए मुफ्त लैपटॉप और टेबलेट भी वितरित किए जाएंगे.
  • ऐसे बच्चों को सरकार द्वारा उनकी प्रवेश के लिए प्रति महीने 4000 रुपए प्रदान किए जाएंगे.
  • COVID-19 महामारी के बाल बनाते हुए बच्चों की पढ़ाई का सारा खर्च राज्य सरकार वहन करेगी.
  • अनाथ बालिकाओं की शादी के लिए राज्य सरकार द्वारा 1.10 लाखों रुपए की सहायता राशि शादी के लिए प्रदान की जाएगी.
  • जिन बच्चों की उम्र 10 साल से कम है उनके गाड़ी नहीं है उन्हें राज्य सरकार द्वारा बाल संरक्षण गृह में रखा जाएगा.
  • उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार स्कूल से लेकर कॉलेज तक विभिन्न वेबसाइट शिक्षा ग्रहण करने में ऐसे बच्चों को विभिन्न सुविधाएं प्रदान करेगी.
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि सरकार का एकमात्र मुख्य उद्देश्य राज्य में ऐसे बच्चों को शिक्षा स्वास्थ्य सुविधाएं आत्मनिर्भर बनाना है.

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना पात्रता/ दस्तावेज

  • योग्य विद्वान उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए.
  • योजना के अंतर्गत जिनके माता-पिता या अभिभावक की मृत्यु COVID-19 महामारी से हुई है.
  • 10 वर्ष से कम उम्र के जिन बच्चों के परिवार का कोई सदस्य नहीं है, उनकी देखभाल राज्य सरकार के बाल गृह द्वारा की जाएगी। उन्होंने कहा कि वर्तमान में मथुरा, लखनऊ, प्रयागराज, आगरा और रामपुर में ऐसे घर काम कर रहे हैं.
  • एक नाबालिग बालिका को भारत सरकार द्वारा संचालित कस्तूरबा गांधी बालिका (आवासीय) स्कूलों या राज्य सरकार द्वारा संचालित बाल गृह (लड़कियों) में रखा जाएगा।
  • इस समय उत्तर प्रदेश में ऐसे 13 बाल गृह हैं.

Uttar Pradesh Bal Seva Yojana Documents Required

New Updates:- करोना मैं अनाथ हुए बच्चों के लिए आज से मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना शुरू 4050 से अधिक बच्चों को मिलेगा योजना का लाभ योजना के अंतर्गत योगी आदित्यनाथ जी द्वारा राज्य के बच्चों को कोविड-19 महामारी के समय अनाथ हुए बच्चों को सहायता देने के उद्देश्य से योजना की शुरुआत की गई है. योजना के अंतर्गत 250 बच्चे ऐसे हैं जिनके माता-पिता दोनों की मृत्यु हुई है. ऐसे में 3810 ऐसे बच्चे हैं जिनमें माता-पिता मै से किसी एक की मृत्यु हुई है.उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे. इस योजना में कोरोना की वजह से निराश्रित-लावारिस हुए बच्चों के भरण पोषण शिक्षा और सुरक्षा के लिए राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की कार्यक्रम में मौजूद थी.

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक अकाउंट
  • अन्य दस्तावेजों

UP Bal Seva Yojana 2022 ऑनलाइन आवेदन

Also Read:

दोस्तों यदि आप इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो नीचे दिए हुए STEPS को फॉलो करें:-

  • UP Bal Seva Yojana 2021 का लाभ लेने के लिए आपको सर्वप्रथम आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपसे विभिन्न तरह के प्रश्न पूछे जाएंगे.
  • सभी तरह की जानकारियां आप दे दीजिए.
  • यहां पर आपको विभिन्न जानकारी जैसे कि- नाम, पता, अन्य जानकारी देनी होगी.
  • सभी जानकारी देने के बाद आपको योजना का लाभ मिल जाएगा.

अंत में दोस्तों आज हमने आपको उत्तर प्रदेश बाल सेवा योजना की जानकारी प्रदान की. आर्टिकल से जुड़े कोई भी पहचाने आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्न का अवश्य उत्तर देंगे. धन्यवाद पोस्ट को शेयर करना ना भूले.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

x